कालिंदी एक्सप्रेस में विस्फोट, पुलिस को जैश-ए-मोहम्मद के नाम की चिट्‌ठी मिली



कानपुर.उत्तर प्रदेश के कानपुर से हरियाणा के भिवानी जा रही कालिंदी एक्सप्रेस की जनरल बोगी के शौचालय में बुधवार शाम कम तीव्रता का विस्फोट हुआ। कानपुर से 35 किमी दूर बर्राजपुर स्टेशन पर शाम 7.10 बजे ट्रेन रुकने के बाद हुए इस विस्फोट में कोई घायल नहीं हुआ है। शौचालय का फर्श टूट गया। यात्रियों में अफरा-तफरी भी मची।

रेलवे पुलिस को टॉयलेट के पास से आधा बोरी मीट और जैश-ए-मोहम्मद के नाम की एक चिट्‌ठी मिली है। जांच के लिए बम स्क्वाॅड और स्निफर डॉग के साथ एसटीएफ और एटीएस भी मौके पर पहुंचीं। पुलिस चंद्रशेखर नाम के एक संदिग्ध को हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है। जांच के बाद रात 11 बजे ट्रेन को भिवानी के लिए रवाना कर दिया गया। रेलवे के सीनियर डिवीजनल सिक्योरिटी कमिश्नर ने कहा कि पहली नजर में माना जा रहा है कि किसी ने यहां पटाखे रखे थे।

विस्फोट स्थल से मिली चिट्‌ठी में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की रैली के मंच पर विस्फोट करने की धमकी दी गई है। इसमें लिखा है कि 10 फीट की बल्ली में ढाई किलो आरडीएक्स भर दिया है। इसे मंच पर लगाकर विस्फोट करना है। चिट्‌ठी में ठेका मजदूर बनकर यह काम करने की बात कही गई है। प्रधानमंत्री मोदी 24 फरवरी को गोरखपुर में रैली करेंगे। चिट्‌ठी में दिल्ली-कानपुर रेलवे रूट पर कानपुर के पास किसी पुलिया को विस्फोट कर शताब्दी ट्रेन को निशाना बनाने की धमकी भी दी है। कानपुर एसएसपी अनंत देओ का कहना है कि शुरूआती जांच में लग रहा है कि किसी ने शरारत की है।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


जांच के बाद रात 11 बजे ट्रेन को भिवानी के लिए रवाना कर दिया गया।


विस्फोट जनरल बोगी के टॉयलेट में हुआ।


जांच करती पुलिस।

from Dainik Bhaskar
https://ift.tt/2VajByA

LPG सिलेंडर के घर पहुंचने से पहले ही कई बार हो जाती है गैस की चोरी, कई मामले आ गए सामने, अब इस ऐप के जरिए मिनटों में देखें कि कहीं आपके सिलेंडर में गैस कम तो नहीं?



न्यूज डेस्क। LPG सिलेंडर से गैस चोरी होने की शिकायतें अक्सर सामने आती हैं। गैस चोरी होने पर भी ग्राहक यह पता नहीं लगा पाते कि सिलेंडर से गैस चोरी हुई है। अब आप यह काम एक ऐप के जरिए कर सकते हैं। इस बनाने वाली कंपनी का दावा है कि इस ऐप से सिर्फ गैस चोरी ही नहीं बल्कि करेंसी, ऑटो पार्ट्स, इलेक्ट्रिकल्स प्रोडक्ट्स को भी वेरिफाई किया जा सकता है। वीडियो में देखिए इसकी पूरी डिटेल।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


Is your gas pilfered? this is what you can do

from Dainik Bhaskar
https://ift.tt/2U0JUa6

LPG सिलेंडर के घर पहुंचने से पहले ही कई बार हो जाती है गैस की चोरी, कई मामले आ गए सामने, अब इस ऐप के जरिए मिनटों में देखें कि कहीं आपके सिलेंडर में गैस कम तो नहीं?



न्यूज डेस्क। LPG सिलेंडर से गैस चोरी होने की शिकायतें अक्सर सामने आती हैं। गैस चोरी होने पर भी ग्राहक यह पता नहीं लगा पाते कि सिलेंडर से गैस चोरी हुई है। अब आप यह काम एक ऐप के जरिए कर सकते हैं। इस बनाने वाली कंपनी का दावा है कि इस ऐप से सिर्फ गैस चोरी ही नहीं बल्कि करेंसी, ऑटो पार्ट्स, इलेक्ट्रिकल्स प्रोडक्ट्स को भी वेरिफाई किया जा सकता है। वीडियो में देखिए इसकी पूरी डिटेल।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


Is your gas pilfered? this is what you can do

from Dainik Bhaskar
https://ift.tt/2U0JUa6

LPG सिलेंडर के घर पहुंचने से पहले ही कई बार हो जाती है गैस की चोरी, कई मामले आ गए सामने, अब इस ऐप के जरिए मिनटों में देखें कि कहीं आपके सिलेंडर में गैस कम तो नहीं?



न्यूज डेस्क। LPG सिलेंडर से गैस चोरी होने की शिकायतें अक्सर सामने आती हैं। गैस चोरी होने पर भी ग्राहक यह पता नहीं लगा पाते कि सिलेंडर से गैस चोरी हुई है। अब आप यह काम एक ऐप के जरिए कर सकते हैं। इस बनाने वाली कंपनी का दावा है कि इस ऐप से सिर्फ गैस चोरी ही नहीं बल्कि करेंसी, ऑटो पार्ट्स, इलेक्ट्रिकल्स प्रोडक्ट्स को भी वेरिफाई किया जा सकता है। वीडियो में देखिए इसकी पूरी डिटेल।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


Is your gas pilfered? this is what you can do

from Dainik Bhaskar
https://ift.tt/2U0JUa6

पाकिस्तान ने आईसीजे में बोली अभद्र भाषा, भारत ने जताई आपत्ति



द हेग. पूर्व भारतीय नेवी अफसर कुलभूषण जाधव मामले की सुनवाई के दौरान भारतीय वकील हरीश साल्वे ने पाकिस्तान की ओर से अभद्र भाषा के इस्तेमाल पर कड़ी आपत्ति जताई। इंटरनेशनल कोर्ट ऑफ जस्टिस (आईसीजे) में सोमवार को कुलभूषण मामले की सुनवाई शुरू हुई थी। यह चार दिन चलनी है। बुधवार को सुनवाई के दौरान पाकिस्तानी वकील खावर कुरैशी ने कहा कि वे भारतीय उप-उच्यायुक्त जेपी सिंह में भविष्य फैंटेसी राइटर देखते हैं। इसके लिए वे उन्हें बधाई देते हैं।

जेपी सिंह ने कहा था कि जब 2017 में कुलभूषण का परिवार उनसे मिलने गया था तब वे स्वस्थ नहीं दिख रहे थे। हरीश साल्वे ने कुरैशी के इन शब्दों पर आपत्ति जताई। उन्होंने कहा, ‘इस अदालत में ऐसी भाषा… यह कोर्ट इसको आपत्तिजनक बताए। यह बेशर्मी, बकवास और अपमानजनक भाषा है… एक अंतरराष्ट्रीय अदालत में भारत इस तरह से संबोधित किया जा रहा है। भारत को पाकिस्तानी वकील की अभद्र भाषा पर कड़ी आपत्ति है।’

पाकिस्तान ने लगाया जासूसी का आरोप
पाक सैनिकों ने कुलभूषण जाधव को मार्च 2016 में बलूचिस्तान प्रांत से पकड़ा था। उन पर अफगानिस्तान में जासूसी के आरोप लगाए गए और मिलिट्री कोर्ट ने 10 अप्रैल 2017 को उन्हें सजा-ए-मौत सुनाई थी। इस पर रोक लगवाने के लिए भारत ने आईसीजे का दरवाजा खटखटाया था। इसके बाद कोर्ट ने 2017 में जाधव को सजा पर रोक लगाई थी। हालांकि, पाकिस्तान ने कहा है कि वह कुलभूषण की सजा को नहीं बदलेगा।

कुलभूषण की सजा रद्द करने की मांग
भारत पहले कह चुका है कि कुलभूषण जाधव जासूस नहीं हैं। बल्कि पाक सैनिकों ने उन्हें अफगानिस्तान बॉर्डर से किडनैप किया था। भारत ने कोर्ट से अपील की है कि पाकिस्तान को जाधव की सजा रद्द करने का आदेश दिया जाए। भारत का आरोप है कि पाकिस्तान ने विएना संधि का उल्लंघन कर कुलभूषण को कॉन्स्युलर एक्सेस मुहैया नहीं कराई और मानवाधिकारों का भी उल्लंघन किया।

जाधव की फैमिली को भी प्रताड़ित किया था
कुलभूषण का परिवार उनसे मिलने 2017 में पाकिस्तान गया था। तब उनके परिवार को प्रताड़ित किया गया था। मुलाकात के दौरान जाधव और परिवार सीसीटीवी की निगरानी में था और उनके बीच एक कांच की दीवार थी।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


पूर्व भारतीय नेवी अफसर कुलभूषण जाधव अभी पाकिस्तान की जेल में हैं।


आईएसजे में भारत का पक्ष रखते हरीश साल्वे।


Pakistan use abusive language at ICJ, India objects, urges UN court to draw redline

from Dainik Bhaskar
https://ift.tt/2NhtdEW

14वीं शताब्दी में बने प्राचीन मंदिर में इन चार युवकों ने की ऐसी हरकत, पता चलते ही भड़क गया लोगों का गुस्सा



हम्पी. कर्नाटक के हम्पी शहर में स्थित यूनेस्को की वर्ल्ड हेरिटेज साइट और प्राचीन विष्णु मंदिर में पत्थरों के खंभे गिराने वाले चार युवकों को कोर्ट ने अनोखी सजा सुनाई। कोर्ट ने चारों युवकों को पिलर को फिर से उठाकर उसी जगह रखने की सजा देने के अलावा हर एक पर 70 हजार रुपए का जुर्माना भी लगाया। चारों युवकों ने ये हरकत तब की थी, जब वे मंदिर घूमने गए थे। इसी दौरान उन्होंने पिलर गिराने का वीडियो बनाकर उसे सोशल मीडिया पर शेयर कर दिया था। वीडियो वायरल होने के बाद पुलिस ने उन्हें खोज निकाला और गिरफ्तार कर लिया था। हम्पी के ये मंदिर दक्षिण भारत में विजयनगर साम्राज्य के दौरान 14वीं शताब्दी में बनाए गए थे।

बचने के लिए बंद कर लिया था अपना मोबाइल

– ये मामला इस महीने के शुरू में तब सामने आया था जब लोगों ने सोशल मीडिया पर एक वीडियो में तीन युवकों को प्राचीन मंदिर का खंभा गिराते हुए देखा। इसके बाद लोगों का गुस्सा भड़क उठा था।
– मंदिर का खंभा गिराने के आरोप में जिन युवकों को गिरफ्तार किया गया, उनमें एक मध्यप्रदेश और बाकी तीन बिहार के रहने वाले हैं। पुलिस के मुताबिक इन युवकों को पिलर गिराने के आरोप में 8 फरवरी को पकड़ा गया था। इसके बाद उन्हें 14 फरवरी तक पुलिस हिरासत में ही रखा गया।
– गिरफ्तारी के बाद उन्हें कोर्ट में पेश किया गया, जहां कोर्ट से मिली सजा को पूरा करने के बाद उन्हें छोड़ दिया गया। आरोपियों ने मंदिर में पिलर गिराने का वीडियो बनाकर सोशल मीडिया साइट इंस्टाग्राम पर शेयर कर दिया था।

वीडियो वायरल होते ही भड़क गया गुस्सा

– जल्द ही ये वीडियो वायरल हो गया और लोगों का गुस्सा भड़क गया और वे आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग करने लगे। हालांकि कुछ ही वक्त बाद आरोपियों ने अपने अकाउंट से वो वीडियो भी डिलीट कर दिया। लेकिन तब तक पुरातत्व विभाग मामला दर्ज करा चुका था।
– पुलिस को आरोपियों के बारे में कुछ भी पता नहीं था, जिसके बाद उसने आरोपियों के सोशल मीडिया अकाउंट की मदद से उनका मोबाइल नंबर पता करते हुए उनकी लोकेशन ट्रेस कर ली और उन्हें गिरफ्तार कर लिया।आरोपियों को बेंगलुरु, हैदराबाद और मध्यप्रदेश से गिरफ्तार किया गया।

– पुलिस से बचने के लिए आरोपियों ने अपना मोबाइल भी बंद कर लिया था। लेकिन पुलिस ने उनकी कॉल डिटेल्स निकलवाते हुए उनके घर का पता लगा लिया।इस घटना के बाद लोगों ने पुरात्व विभाग से इलाके में सुरक्षा के इंतजाम करने की मांग कीहै।

– कानून के मुताबिक किसी भी ऐतिहासिक और पुरातात्विक महत्व की धरोहर को नुकसान पहुंचाने पर अधिकतम 2 साल की सजा और 1 लाख रुपए तक का प्रावधान रहता है। जुर्माना अदा ना कर पाने पर दोषियों को अतिरिक्त सजा काटना होती है।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


youths arrested by police after they vandalised Hampi world heritage site


youths arrested by police after they vandalised Hampi world heritage site


youths arrested by police after they vandalised Hampi world heritage site


youths arrested by police after they vandalised Hampi world heritage site

from Dainik Bhaskar
https://ift.tt/2tr3jFI

Tomorrow Latest News : मोदी दो दिवसीय दौरे पर जा रहे हैं दक्षिण कोरिया, मिलेगा सियोल शांति पुरस्कार



नेशनल डेस्क, नई दिल्ली. पीएम मोदी 21 फरवरी से दो दिवसीय दौरे पर साउथ कोरिया जा रहे हैं। यहां मोदी साउथ कोरिया के राष्ट्रपति मून जे इन के साथ सामरिक मुद्दों पर चर्चा करेंगे। उन्हें यहां सियोल शांति सम्मान भी दिया जाएगा।

कुलभूषण केस में सुनवाई : कुलभूषण जाधव केस में 21 फरवरी को हेग स्थित इंटरनेशनल कोर्ट ऑफ जस्टिस (आईसीजे) में सुनवाई होगी। बता दें कि 18 फरवरी से शुरू हुई सुनवाई 21 फरवरी तक चलनी है।

BJP की विजय संकल्प यात्रा : कर्नाटक में लोकसभा चुनाव के मद्देनजर BJP 21 फरवरी से राज्य की सभी 28 लोकसभा सीटों पर 'मोदी विजय संकल्प यात्रा' की शुरुआत करेगी।

दिल्ली-एनसीआर में ओलावृष्टि : मौसम विभाग ने दिल्ली-एनसीआर में मौसम को लेकर अलर्ट जारी किया है। मौसम विभाग के मुताबिक यहां दोपहर बाद बारिश हो सकती है साथ ही ओला पड़ने की संभावना भी है।

Honor Watch Magic की Amazon पर बिक्री : Huawei की सब-ब्रांड Honor ने पिछले महीने Honor View 20 के साथ Honor Watch Magic लॉन्च किया था। कंपनी ने हॉनर वॉच मैजिक के फीचर्स और कीमत तो बता दी थी, लेकिन ये कहां मिलेगी इसकी जानकारी नहीं दी थी। अब Honor Watch Magic ई-कॉमर्स वेबसाइट Amazon India 21 फरवरी से मिलना शुरू हो जाएगी।

टी-20 मैच की शुरुआत : देहरादून के राजीव गांधी इंटरनेशनल क्रिकेट स्टेडियम में अफगानिस्तान 21 फरवरी से 19 मार्च तक टी-20 इंटरनेशनल, वनडे और टेस्ट सीरीज के लिए आयरलैंड की मेजबानी करेगा। अफगानिस्तान और आयरलैंड को पिछले साल ICC ने पूर्ण सदस्यता के साथ टेस्ट खेलने का दर्जा दिया था।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


21 February latest news: Tomorrow, Latest News,Odisha Bandh,Modi Korea visit, Karnataka Rally,Delhi Weather: National News and Updates Dainik Bhaskar

from Dainik Bhaskar
https://ift.tt/2BLXWoW

मोदी ने सऊदी प्रिंस को दिया शाही भोज, मेन्यू में गोलगप्पे और केसर जबेली भी शामिल



नई दिल्ली.प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को हैदराबाद हाउस में द्विपक्षीय वार्ता के बाद सऊदी अरब के क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान बिन सऊद को शादी भोज दिया। इसमें केसर जलेबी, गोलगप्पे, फालूदा और रोगनजोश जैसे कई पारंपरिक भारतीय वेज और नॉनवेज व्यंजन शामिल थे। इससे पहले प्रिंस सलमान को राष्ट्रपति भवन में गार्ड ऑफ ऑनर दिया गया। सऊदी प्रिंस पहली बार डेलिगेशन के साथ दो दिवसीय भारत दौरे पर आए हैं। मंगलवार रात मोदी प्रोटोकॉल तोड़कर उनकी अगवानी के लिए एयरपोर्ट गए थे।

  1. लंच के मेन्यू में रोगनजोश, तंदूरी गुलाबी मच्छी, कीमा संबौशेक, दाल मखनी, बदीन-ए-जाम, कुरकुरी तिल भिंडी, केसर जलेबी, गुलाब जामुन, फालूदा के साथ शाही कुल्फी जैसे व्यंजन शामिल थे।

  2. लंच के दौरान खास तौर पर गीत-संगीत का भी इंजताम किया गया था। प्रिंस के सम्मान में देबंजन भट्टाचार्य, निशांत सिंह और रोहन बोस जैसे कलाकारों ने प्रस्तुति दी। भट्टाचार्य ने सरोद, सिंह ने पखावज और खंजीरा, बोस ने तबले पर ताल दी। एक के बाद एक 12 गीतों की प्रस्तुति में भजन-वैष्णव जन तो, गजल-चुपके चुपके रात दिन और बॉलीवुड सॉन्ग-मेरे नैना सावन भादो और लग जा गले शामिल थे।

  3. भारत और सऊदी अरब के बीच द्विपक्षीय वार्ता के दौरान ऊर्जा, पर्यटन और सुरक्षा समेत पांच क्षेत्रों में करार हुए। साझा प्रेस कॉन्फ्रेंस में भारत ने सऊदी अरब के सामने पुलवामा हमले का मुद्दा उठाया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सऊदी अरब के क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान बिन सऊद की मौजूदगी में कहा कि आतंकवाद फैलाने वालों पर दबाव बनाने की जरूरत है। इसके बाद प्रिंस सलमान ने इस मुद्दे पर भारत का पूरा साथ देने का वादा किया। हालांकि, उन्होंने पुलवामा हमले का नाम नहीं लिया।

    1. Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


      क्राउन प्रिंस सलमान के लंच का मेन्यू।

      from Dainik Bhaskar
      https://ift.tt/2XewhX5

भारत को धमकी देते हुए जब इमरान खान भूल गए थे अपना ही इतिहास, 20वीं सदी में घटी थी ऐसी घटना, जिसे कभी नहीं भूल पाएगा पाकिस्तान



नेशनल डेस्क. पुलवामा हमले के बाद पहली बार मंगलवार को पाकिस्तानी पीएम इमरान खान ने बयान दिया है। उन्होंने कहा कि भारत पर उन पर हमले में शामिल हाेने का आरोप लगा रहा है, जो सरासर बेबुनियाद है। साथ ही उन्होंने कहा है कि भारत लगातार पाकिस्तान पर जंग करने के हालत पैदा कर रहा है। अगर भारत ने जंग शुरू की तो पाकिस्तान भी इसका जवाब देगा। हालांकि ये बयान देते वक्त पाक पीएम इतिहास भूल गए थे, जब 1971 में पूर्वी पाकिस्तान (अब बांग्लादेश) में जंग के दौरान 93 हजार पाक सैनिकों ने भारतीय सेना के सामने सरेंडर कर दिया था।

एक साथ 93 हजार सैनिक बंदी

– सोलह दिसम्बर 1971 को पूर्वी पाकिस्तान जनरल नियाजी ने अपने 93 हजार सैनिकों के साथ उस वक्त के पूर्वी पाकिस्तान में भारतीय सेना के सामने आत्मसमर्पण कर दिया था।
– युद्ध बंदियों पर बांग्लादेश में किसी तरह का हमला होने की आशंका को ध्यान में रखते हुए भारतीय सेना सभी को विशेष रेल के माध्यम से यहां ले आई। इन सभी को बिहार में विशेष शिविरों में रखा गया। 21 दिसम्बर 1971 को संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद ने प्रस्ताव पारित कर सभी को रिहा करने को कहा।

मान्यता बगैर छोड़ने को तैयार नहीं था बांग्लादेश
– भारत सरकार ने रिहा करने से इनकार करते हुए कहा कि इस युद्ध में बांग्लादेश भी एक पक्ष था। इस कारण उसकी सहमति के बगैर इन्हें रिहा नहीं किया जाएगा। बांग्लादेश के राष्ट्रपति शेख मुजीबर ने स्पष्ट कर दिया कि पाकिस्तान की तरफ से उनके देश को मान्यता मिले बगैर इन्हें नहीं छोड़ा जाएगा।
– पाकिस्तान ने मान्यता देने से इनकार करते हुए अंतरराष्ट्रीय स्तर पर बहुत दबाव बनाया, लेकिन भारत सरकार अपने फैसले पर अडिग रही। भारत-पाकिस्तान के बीच दो जुलाई 1972 को हुए शिमला समझौते में पाकिस्तान के झुकने के पीछे इन बंदी सैनिकों की बड़ी भूमिका रही।

बंदी सैनिक रेडियो पर भेजते थे संदेश
– उस समय ऑल इंडिया रेडियो पर पाक सैनिक अपना परिचय देते हुए अपने परिजनों के नाम संदेश प्रसारित करते थे कि वे यहां सकुशल है। बंदी बनाए गए सैनिकों के परिजनों ने पाकिस्तान सरकार पर दबाव बढ़ा। पाकिस्तान के रावलपिंडी में पांच दिसंबर 1972 को इन सैनिकों ने बड़ा प्रदर्शन कर बांग्लादेश को मान्यता देने की मांग की ताकि सभी को रिहा कराया जा सके।
– पाकिस्तान का कहना था कि युद्ध के समय बांग्लादेश का अस्तित्व ही नहीं था। ऐसे में ये सैनिक अपने देश की रक्षा कर रहे थे। ऐसे में इनकी रिहाई में बांग्लादेश को पक्ष बनाना उचित नहीं होगा। बांग्लादेश ने मांग की कि सभी बंदी सैनिक उसे सौंप दिए जाए ताकि उन पर मुकदमा चलाया जा सके। पाकिस्तान ने इसका जोरदार विरोध किया।

आखिरकार प्रदान की मान्यता
– पाकिस्तान की संसद ने दस जुलाई 1973 को एक प्रस्ताव पारित कर भुट्टो को अधिकृत किया कि वे बांग्लादेश को मान्यता प्रदान करने का फैसला करे, लेकिन उन्होंने इनकार कर दिया।
– आखिरकार पाकिस्तान ने 22 फरवरी 1974 को बांग्लादेश को मान्यता प्रदान कर दी। इसके बाद 9 अप्रेल 1974 को तीनों देशों के बीच दिल्ली में समझौता हुआ।
– बांग्लादेश ने बंदियों पर मुकदमा चलाने का फैसला वापस लिया। अप्रेल 1974 के अंत तक सारे बंदियों को भारत ने पाकिस्तान को सौंप दिया।
– भारत को करीब ढाई वर्ष तक बंदी बना कर रखे गए पाकिस्तानी सैनिकों के खानपान पर भारी-भरकम राशि खर्च करनी पड़ी।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


Imran khan threatens india after pulwama attack but he forgot war history of india-pakistan

from Dainik Bhaskar
https://ift.tt/2Sb0zWU

Video: जिसके सामने झोली फैलाए खड़ा था पाकिस्तान, दो दिन बाद भारत आकर उसने मोदी से मिलाया हाथ, बोला, ‘आतंकवाद के सफाए में हम आपके साथ’



नेशनल डेस्क दिल्ली.सऊदी अरब के क्राउन प्रिंस सलमान भारत दौरे से पहले पाकिस्तान गए थे, पाक के साथ 20 अरब डॉलर के करार किए। जो पाकिस्तान दो दिन पहले सऊदी के सामने पैसे के लिए हाथ जोड़कर खड़ा था। वहीं सऊदी अरब हर मोर्चे पर भारत के साथ खड़ा है।एक दिन के भारत दौरे पर आए सऊदी अरब के क्राउन प्रिंस सलमान सामने पुलवामा हमले का मुद्दा उठाया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सऊदी अरब के क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान बिन सऊद की मौजूदगी में कहा कि आतंकवाद फैलाने वालों पर दबाव बनाने की जरूरत है। वहीं, सऊदी क्राउन प्रिंस ने इस मुद्दे पर भारत का पूरा साथ देने का वादा किया। हालांकि, उन्होंने पुलवामा हमले का नाम नहीं लिया। बता दें 14 फरवरी को पुलवामा के लेथपोरा में हुए फिदायीन हमले में भारत के 40 जवान शहीद हो गए थे। 18 फरवरी को सुरक्षा बलों ने हमले के मास्टरमाइंड कामरान को पुलवामा के पिंगलेना में मार गिराया।

भारत और सऊदी अरब के बीच 5 करार हुए

भारत और सऊदी अरब के बीच ऊर्जा को लेकर करार
पर्यटन क्षेत्र में एमओयू पर हस्ताक्षर हुए
द्विपक्षीय कारोबार को बढ़ावा देने के लिए करार
प्रसार भारती और सऊदी अरब के बीच प्रसारण साझा करने का करार
इंटरनेशनल सोलर अलायंस के क्षेत्र में करार

सऊदी भारत का चौथा सबसे बड़ा कारोबारी पार्टनर
सऊदी अरब भारत का चौथा सबसे बड़ा कारोबारी साझेदार है। 2017-18 के दौरान दोनों देशों के बीच 1.95 लाख करोड़ का सालाना कारोबार हो रहा था। सऊदी अरब भारत की कुल जरूरत का 17% कच्चा तेल और 32% एलपीजी मुहैया करा रहा है।
सऊदी अरब और भारत के बीच 5 करार हुए

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


PM Modis address at the Joint Press Meet with Saudi Crown Prince Mohammed bin Salman

from Dainik Bhaskar
https://ift.tt/2XfxuNU

एवलांच के बाद सेना का एक जवान शहीद, पांच अभी भी फंसे



किनौर. जिला में नमंग्या पहाड़ी क्षेत्र में एवलांच के बाद सेना का एक जवान शहीद हो गए। पांच जवान अभी भी वहां फंसे हुए हैं। आईटीबीपी के जवान और जिला पुलिस बल का संयुक्त रूप से रेस्क्यू ऑपरेशन जारी।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


army jawan dead due to avalanche in Namgya region of Kinnaur Himachal Pradesh

from Dainik Bhaskar
https://ift.tt/2IqTjXk

भारत ने पाकिस्तान की आर्थिक कमर तोड़नी शुरू की, सामान से लदे उसके ट्रक बॉर्डर पर अटके



नई दिल्ली. पुलवामा हमले के बाद पाकिस्तान को अलग-थलग करने की नीति के तहत भारत ने आर्थिक तौर पर उसकी कमर तोड़नी शुरू कर दी है। हमले के बाद भारत ने पाकिस्तान से मोस्ट फेवर्ड नेशन का दर्जा छीन लिया था और वहां से आने वाले सामान पर ड्यूटी 200% तक बढ़ा दी थी। पाकिस्तान की मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, वाघा बॉर्डर पर सामान से लदे पाकिस्तान के कई ट्रक अटके हुए हैं। पाक मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, पुलवामा हमले के बाद भारत की कोशिशें पाकिस्तान को आर्थिक मोर्चे पर हर तरह से नुकसान पहुंचा रही हैं।

वाघा बॉर्डर पर छुहारों से लदे ट्रक खड़े

पाकिस्तान के एक चैनल की रिपोर्ट के मुताबिक, 14 फरवरी को पुलवामा हमले से पहले ट्रक के जरिए अरबों रुपए का छुहारा वाघा बॉर्डर से भारत में एक्सपोर्ट होना था। हालांकि, अब वाघा बॉर्डर पर छुहारों से लदे सैकड़ों ट्रक खड़े हैं। एक ट्रक में तकरीबन 15 लाख रुपए का माल है। 200% इम्पोर्ट ड्यूटी बढ़ाने के बाद 15 लाख रुपए के सामान पर 30 लाख रुपए की ड्यूटी लगा दी गई है। इसके बाद लाहौर से आ रहे कई ट्रक बॉर्डर पहुंचे बिना ही लौट रहे हैं। पाकिस्तान की कई छुहारा मार्केट में कारोबार बंद हो चुका है। पिछले पांच दिनों में पाकिस्तान सरकार और वहां के कारोबारियों को अरबों रुपए का नुकसान हो चुका है।

पाक को चाय का निर्यात भी कम करेगा भारत
भारत के चाय उत्पादकों ने भी कहा है कि वे पाकिस्तान को निर्यात कम कर देंगे। 2018 में भारत ने पाकिस्तान में 1.58 करोड़ किलोग्राम चाय निर्यात की थी। 2017 के मुकाबले चाय के निर्यात में 7.43% का इजाफा हुआ था। चाय उत्पादकों का कहना है कि अब वे पाकिस्तान की बजाय मिस्र, मध्य पूर्व और रूस जैसे देशों में चाय निर्यात करने के बारे में सोचेंगे।

पुलवामा हमले का असर
पुलवामा हमले के बाद भारत ने पाकिस्तान से मोस्ट फेवर्ड नेशन का दर्जा छीनने का फैसला किया था। इसके बाद से भारत पर पाकिस्तान से आयात होने वाली वस्तुओं पर किसी भी सीमा तक शुल्क बढ़ाने का अधिकार था। पाकिस्तान से आयात होने वाली दो प्रमुख वस्तुएं फल और सीमेंट हैं। अब तक फलों पर 30-50% और सीमेंट पर 7.5% कस्टम ड्यूटी लगती थी। अब यह ड्यूटी बढ़कर सीधे 200% हो चुकी है। भारत-पाकिस्तानके बीच सालाना 17 हजार करोड़ रुपए का कारोबार होता है। इसमें भारत की 80% और पाक की 20% हिस्सेदारी है।

पुलवामा हमले के बाद भारत ने पाकिस्तान से एमएफएन का दर्जा वापस ले लिया है।

भारत ने 1996 में पाक को मोस्ट फेवर्ड नेशन का दर्जा दिया था
मोस्ट फेवर्ड नेशन यानी सबसे ज्यादा तरजीही वाला देश। विश्‍व व्‍यापार संगठन और इंटरनेशनल ट्रेड नियमों के आधार पर व्यापार में सहूलियत लाने के लिए मोस्ट फेवर्ड नेशन का दर्जा दिया जाता है। जिस देश को यह यह दर्जा मिलता है, उसे आश्वासन रहता है कि उसे कारोबार में नुकसान नहीं पहुंचाया जाएगा। भारत ने 1996 में पाकिस्‍तान को मोस्‍ट फेवर्ड नेशन का दर्जा दिया था। 2016 में सिंधु जल समझौता खत्म करने के समय और उड़ी हमले के बाद भी भारत ने पाक से एमएफएन का दर्जा वापस लेने के संकेत दिए थे। हालांकि, बाद में केंद्र सरकार ने इसे जारी रखा था। पाक ने कभी भी भारत को एमएफएन का दर्जा नहीं दिया।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


india giving setback to pakistan economy after pulwama terror attack

from Dainik Bhaskar
https://ift.tt/2T6YnnU

आसमान की तरफ उंगली दिखाते हुए इस लड़के ने कह दी बात ऐसी बात, कि मोदी करने लगे तारीफ




नेशनल डेस्क। पीएम मोदी ने अपने फेसबुक पेज पर एक वीडियो शेयर किया है। जिसमें वो एक दिव्यांग शख्स से मिले जिसने एक कविता सुनाई। कविता सुन पीएम मोदी भावुक हो गए और उन्होंने शख्स को गले लगा लिया। कविता सुनने के बाद वो शख्स पीएम के पैर छूने के लिए नीचे झुका लेकिन पीएम मोदी ने उससे ऊपर खींच गले लगा लिया। मोदी ने इस वीडियो को शेयर करते हुए लिखा काशी में मेरे युवा मित्र के साथ कुछ खास पल। इस वीडियो को अब तक 4.5 मिलियन लोग देख चुके हैं। 38 हजार से ज्यादा लोगों ने इसे शेयर किया है।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


pm-modi got emotional-listening poem disable man

from Dainik Bhaskar
https://ift.tt/2GRmrVf

ट्रेनर की मदद से ट्रम्पोलिन पर उछलते दिखा बच्चा, दिव्यांग की मस्ती का वीडियो हो रहा वायरल




इंटरनेशनल डेस्क। अमेरिका के नॉर्थ डकोटा का एक वीडियो सामने आया है। इसमें दिव्यांग बच्चा मस्ती करता नजर आ रहा है। ट्रेनर की मदद से ये ट्रम्पोलिन पर उछलता है। इसके चेहरे की खुशी देखते ही बन रही थी। बता दें 4 साल का व्याट व्हीलचेयर पर चलता है। ये पैरों पर खड़ा नहीं हो सकता। व्याट स्पाइना बिफिडा नाम की बीमारी के साथ पैदा हुआ था। स्पाइना बिफिडा बीमारी में कमज़ोर हो जाती हैं शरीर की मांसपेशियां। सोशल मीडिया पर ये इस वीडियो को काफी पसंद किया जा रहा है।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


Child confined to wheelchair bounces on trampoline

from Dainik Bhaskar
https://ift.tt/2IqnaiG

पुलवामा हमले में शहीद जवानों के परिवारों के लिए अपनी ओर से मदद करना चाहता था शख्स, लेकिन कोशिश नहीं हो पाई सफल



रिचमंड. पुलवामा में हुए आतंकी हमले में शहीद हुए 40 जवानों के परिवारों की मदद करने के लिए बड़ी संख्या में लोग आगे आ रहे हैं। हाल ही में अमेरिका में रहने वाले भारतीय मूल के एक युवक ने शहीद जवानों के परिवारों के लिए 6 दिन में 8.66 लाख डॉलर्स (करीब 6.16 करोड़ रु) जमा कर दिखाए। खास बात ये है कि युवक पहले सिर्फ अपनी ओर से मदद करना चाहता था लेकिन जब वो कोशिश में सफल नहीं हो पाया तो उसने फेसबुक की मदद से इतना फंड इकट्ठा कर लिया।

यूं जमा की मदद

– अमेरिका के रिचमंड शहर में रहने वाले 26 साल के विवेक पटेल को जब CRPF काफिले पर हमले में शहीद हुए 40 जवानों के बारे में पता चला तो उसके काफी दुख हुआ और उसने शहीदों के परिवारों की मदद करने के बारे में सोच लिया। विवेक ने भारत सरकार की वेबसाइट 'भारत के वीर' पर जाकर अमेरिकी क्रेडिट और डेबिट कार्ड से मदद करने की कोशिश की। लेकिन विदेशी कार्ड होने की वजह से वो कामयाब नहीं हो सका।
– इसके बाद विवेक ने ज्यादा से ज्यादा लोगों से मदद लेते हुए शहीदों के परिवारों की मदद करने का सोचा। इसके लिए उसने फेसबुक पर एक फंड रैजर (दान मांगने वाला) पेज बनाकर लोगों से मदद मांगना शुरू कर दिया। विवेक का कहना है कि 14 फरवरी को हमले वाले दिन ही मैंने 'उरी' फिल्म देखी थी। इसी वजह से मेरे मन में CRPF जवानों और उनके परिवार की मदद करने का आइडिया आया।

अन्य देशों से भी मदद के लिए आए फोन

– विवेक ने 2.5 लाख डॉलर जुटाने का लक्ष्य रखते हुए फंड रैजर पेज बनाया था। लेकिन अगले छह दिनों में लोगों ने उसके पास 8.66 लाख डॉलर्स जमा करा दिए। फिलहाल ये पैसे विवेक के पास ही हैं और वो इन्हें भारत सरकार तक पहुंचाना चाहता है। इसके लिए उसने विदेश मंत्रालय के अलावा भारतीय दूतावास से भी संपर्क किया है।
– विवेक वर्जिनिया स्टेट के रिचमंड शहर में बतौर सीनियर बिजनेस एनालिस्ट काम करता है। वो मूल रूप से गुजरात के वडोदरा शहर का रहने वाला है। जिस तरह विवेक भारत सरकार तक पैसे नहीं पहुंचा पाया, उसी तरह विदेश में रहने वाले भारतीय मूल के और भी लोग अपनी मदद नहीं पहुंचा सके थे। इसी वजह से उन्होंने भी विवेक के फंड रैजर पेज पर अपनी मदद कर दी।
– फेसबुक पेज बनाने के अलावा विवेक ने मैसेंजर की मदद से लोगों को पर्सनल मैसेज भी भेजे, साथ ही रेडियो की मदद भी ली। जिसके बाद उसके पास ऑस्ट्रेलिया, जर्मनी और कनाडा में रहने वाले लोगों के फोन भी आए, जो अपनी ओर से मदद देना चाहते थे। विवेक अब भी अपने फेसबुक अकाउंट पर रेगुलर पोस्ट करते हुए लोगों को इकट्ठे हुए फंड के बारे में जानकारी दे रहा है। हाल ही में उसने एक वीडियो शेयर करते हुए अपनी आगे की प्लानिंग के बारे में भी बताया।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


Indian Residing In US Has Raised Over Rs 5 Crore For Pulwama Martyrs’ Kin


Indian Residing In US Has Raised Over Rs 5 Crore For Pulwama Martyrs’ Kin


Indian Residing In US Has Raised Over Rs 5 Crore For Pulwama Martyrs’ Kin

from Dainik Bhaskar
https://ift.tt/2NhsGmj