1 से 5 हजार रुपए के सेंसर से घर बैठे जान सकेंगे खेत में कितनी नमी मौजूद



गैजेट डेस्क. विदेशों की तरह अब भारत में भी स्मार्ट खेती का चलन बढ़ रहा है। स्मार्ट खेती यानी टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल कर पैदावार बढ़ाना। उदाहरण के तौर पर मिट्‌टी की नमी बताने वाले सेंसर की मदद से मिट्‌टी में पानी की सटीक मात्रा डेटा पाना। इससे पानी की खपत को नियंत्रित किया जा सकता है।

इस काम के लिए बाजार में प्लास्टवेयर रॉक्स प्लांट मॉयश्चर इंडीकेटर, डॉ. मीटर एस 10, टेक सोर्स सॉल्यूशन सेंसर 1 से पांच हजार रुपए तक की कीमत में मिल जाएंगे। किसी ई-कॉमर्स वेबसाइट या किसान ई स्टोर जैसे प्लेटफार्म पर भी आप ऑर्डर दे सकते हैं। तमिलनाडू, कर्नाटक, राजस्थान में किसानों ने इसका इस्तेमाल भी शुरू कर दिया है।

गर्मी और कीटों की जानकारी देने वाले सेंसर भी मौजूद: गर्मी, सूरज की रोशनी और कीट आदि के स्तर की जानकारी देने वाले कई तरह के सेंसर भी बाजार में उपलब्ध हैं। इनके जरिए फसलों की स्थिति का विश्लेषण कर सटीक पूर्वानुमान लगाना संभव है।

  1. तमिलनाडू के कोयंबटूर स्थित गन्ना प्रजनन संस्थान के वैज्ञानिकों ने खेत में मौजूद नमी के मुताबिक सिंचाई की जानकारी देने वाला एक सेंसर बनाया है। इसे एसएमआई के नाम से जाना जाता है। कोयंबटूर और हरियाणा के करनाल स्थित क्षेत्रीय गन्ना प्रजनन केंद्र से फोन या पत्र के जरिए संपर्क कर इस यंत्र के बारे में जानकारी हासिल की जा सकती है।

    1. Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


      Sensors able to know how much moisture in farming

      from Dainik Bhaskar
      https://ift.tt/2FMsmtb

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Skip to toolbar