राजनाथ सिंह ने कहा, अनुच्छेद 370 था कैंसर

पटनारक्षा मंत्री ने के मुद्दे पर राजनीति करने वालों को करारा जवाब दिया है। रक्षा मंत्री ने कहा कि अनुच्छेद 370 कैंसर की तरह था, जिसने कश्मीर का खून बहाया। पटना में एक कार्यक्रम के दौरान राजनाथ सिंह ने कहा कि अनुच्छेद 370 को निष्प्रभावी किए जाने के सपने को पीएम मोदी ने सच कर दिखाया। उन्होंने यह भी कहा कि जम्मू-कश्मीर के तीन चौथाई से अधिक लोग इस अनुच्छेद को खत्म करने के पक्ष में थे। रक्षा मंत्री ने पाकिस्तान को भी उसी की भाषा में जवाब दते हुए कहा कि किसी ने बॉर्डर पार करने की कोशिश की तो वह वापस नहीं जा पाएगा।

‘देखते हैं पाक में कितनी हिम्मत

रक्षामंत्री ने कहा, ‘अनुच्छेद 370 और 35ए ही वे कारण थे, जिसकी वजह से कश्मीर में आतंक जन्म ले रहा था। इसी की वजह से आतंकियों ने कश्मीर में खून-खराबा किया। अब देखते हैं कि पाकिस्तान में कितनी हिम्मत है। वह कितने आतंकी पैदा कर सकता है।’

‘बॉर्डर पर आने की गलती न करें’
उन्होंने कहा, ‘पाकिस्तान के पीएम इमरान खान पीओके गए और कहा कि उनके लोग भारत-पाकिस्तान के बॉर्डर पर न जाएं। मैं कहता हूं कि ये अच्छा है कि वे बॉर्डर पर न आएं क्योंकि अगर वे ऐसा करते हैं तो पाकिस्तान वापस नहीं जा सकेंगे। उन्हें 1965 और 1971 की गलतियों को नहीं दोहराना चाहिए।’

रक्षा मंत्री ने कहा कि यदि उन्होंने 65 और 71 जैसी गलतियों को दोहराया तो उन्हें समझना होगा कि पाक अधिकृत कश्मीर का क्या होगा। बलूच और पश्तूनों के मानवाधिकारों का लगातार हनन हो रहा है। यदि यह सब नहीं रोका गया तो कोई भी ताकत पाकिस्तान को अलग-अलग हिस्सों में बंटने से नहीं रोक सकती।

बता दें कि बीते कुछ दिन पहले पीओके में रैली के दौरान पाकिस्तान के पीएम इमरान खान ने कहा था, ‘कुछ लोग एलओसी पर जाना चाहते हैं, लेकिन वे अभी ऐसा न करें। उन्हें ऐसा कब करना है, यह मैं उन्हें बताऊंगा।’ इमरान के इस बयान के बाद भारतीय सेना के अधिकारी ने कहा था कि पाकिस्तान के पीएम पीओके के लोगों को ढाल न बनाएं। यदि किसी ने एलओसी पर आने की या उसे पार करने की कोशिश की तो उसकी जान की जिम्मेदारी पाक पीएम की ही होगी।

from India News: इंडिया न्यूज़, India News in Hindi, भारत समाचार, Bharat Samachar, Bharat News in Hindi https://ift.tt/32U2Nj6

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Skip to toolbar