युवाओं की ऊर्जा को सही दिशा देने के लिए 13 साल पहले शुरू की गई थी यह प्रतियोगिता



न्यूयॉर्क. अमेरिका की न्यूयॉर्क सिटी में रविवार से बीट द स्ट्रीट्स रेसलिंग लीग शुरू हो गई है। इस साल के इवेंट में भारत की साक्षी मलिक भी हिस्सा ले रही हैं। ये लीग 13 साल से लगातार होती आ रही है। बीट द स्ट्रीट्स नाम के नॉन-प्रॉफिट ऑर्गनाइजेशन ने 2006 में ये लीग शुरू की थी। मकसद था- युवाओं की ऊर्जा को सही दिशा में केंद्रित करना। आम लोगों को लीग से जोड़ने के लिए इसके मुकाबले सड़क पर कराए जाते हैं। पिछली बार टाइम्स स्क्वैयर पर मैच हुए थे।

ट्रेनिंग लेने वालों में 20% लड़कियां

बीट द स्ट्रीट्स की गर्ल्स डेवलपमेंट कोऑर्डिनेटर एमा रैंडल ने बताया, ‘लीग से लड़कियों को जोड़ने पर खास जोर रहता है। यही वजह है कि ट्रेनिंग लेने वाले कुल लोगों में से करीब 20% लड़कियां हैं। हमारा मानना है कि युवाओं से जुड़े अपराध बढ़ने की वजह ये भी है कि उनकी ऊर्जा को सही दिशा में नहीं लगाया जाता है।’

26 तरह के रेसलिंगप्रोग्राम चल रहे

रैंडल ने कहा, ‘हमने सोचा कि इसके लिए स्पोर्ट्स से बेहतर जरिया कोई नहीं हो सकता। हम मिडिल स्कूल से लेकर हाईस्कूल तक के लेवल पर 26 अलग-अलग तरह के रेसलिंग प्रोग्राम चला रहे हैं, जिससे युवा जुड़ सकते हैं। 77 फीसदी पेरेंट्स मानते हैं कि इस लीग में हिस्सा लेने के बाद उनके बच्चों की पढ़ाई में सुधार हुआ है।’

रेसलिंग सबसे पुराना खेल

एमा बताती हैं, ‘रेसलिंग का सकारात्मक असर युवाओं की पढ़ाई और उनकी सामाजिक समझ पर भी पड़ता है। लीग में अच्छा करने पर वे आत्मविश्वास से भरपूर महसूस करते हैं और स्कूल में भी बेहतर कर पाते हैं।’ उनके मुताबिक, रेसलिंग को खेल के तौर पर अपनाने का फैसला किया गया क्योंकि इसको सबसे पुराना खेल माना जाता है। 2600 ईसा पूर्व से कुश्ती लड़े जाने के सबूत मिलते हैं।

13 साल में 3500 युवा लीग से जुड़े
लीग की शुरुआत 100 युवाओं से हुई थी। अब करीब 3500 युवा जुड़ चुके हैं। 8 साल से ज्यादा का कोई भी लड़का या लड़की बीट द स्ट्रीट्स के साथ जुड़ सकता है। 18 साल तक के युवाओं को ही बीट द स्ट्रीट्स ट्रेनिंग सेंटर में शामिल किया जाता है।

तीन साल से लड़कियों की संख्या लगातार बढ़ रही
लड़कियों की संख्या बढ़ाने के लिए 2015 में गर्ल्स डेवलपमेंट प्रोग्राम शुरू हुआ। इसके बाद से लड़कियों की संख्या बढ़ रही है। 2016 में लीग में लड़कियों की तादाद 13% थी। 2017 में 16% और 2018 में बढ़कर 20% हो चुकी है।

लीग में भारत की आठ रेसलर
लीग में भारत की 8 महिला रेसलर्स उतर रही हैं। इनमें साक्षी मलिक, शीतल तोमर, पूजा ढांडा, पिंकी, सरिता, नवजोत कौर, किरन और सुदेश शामिल हैं। लीग की पहली स्टेज रविवार देर रात लॉस एंजिलिस में हुई।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


प्रतियोगिता में हिस्सा लेनी गईं भारतीय रेसलर्स के साथ कोचिंग स्टाफ और अन्य सहयोगी।


प्रतियोगिता से पहले अभ्यास करतीं भारतीय रेसलर्स।


प्रतियोगिता से पहले भारतीय रेसलर पूजा ढांडा (दाएं) ने भी भी अभ्यास किया।


प्रतियोगिता से पहले भारतीय रेसलर्स ने अभ्यास सत्र में हिस्सा लिया।


अभ्यास सत्र में हमवतन खिलाड़ी के साथ दांव आजमाती भारतीय रेसलर।

from Dainik Bhaskar
https://ift.tt/2YHVzxB

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Skip to toolbar