जल्द निपटें बच्चों से दुष्कर्म के केस: एमिकस क्यूरी

नई दिल्ली
देश भर में बच्चों से दुष्कर्म के बढ़ते मामले पर ने पोक्सो कोर्ट में चल रहे सभी मामलों के स्पीडी ट्रायल की मांग की है। सोमवार को एमिकस क्यूरी ने कहा कि अगर बच्चों से यौन शोषण के मामलों को जल्द निपटाना है तो इंफ्रास्ट्रक्चर, जजों और कोर्ट की संख्या बढ़ानी पड़ेगी। सुनवाई के दौरान दिल्ली में बच्चों के यौन शोषण के मामलों के समय से निपटारा न होने पर CJI ने चिंता भी जताई।

एमिकस क्यूरी ने कहा कि पोक्सो कोर्ट के लिए ऐसे मामलो में बच्चों के प्रति संवेदनशीलता बरती जानी चाहिए। इसके लिए पोक्सो कोर्ट के मामलों के लिए अलग से विशेष सरकारी वकील नियुक्त किए जाएं जो केवल बच्चों से संबंधित मामले ही देखें। ऐसे में मामलों को जल्द निपटाया जा सकता है।

क्या है एमिकस क्यूरी
जो आरोपी फीस न दे सकने की वजह से वकील नहीं कर पाते, उन्हें अदालत सरकारी खर्च पर वकील मुहैया करवाती है। उसे एमिकस क्यूरी कहा जाता है। एमिकस क्यूरी की नियुक्ति केस की किसी भी स्टेज पर की जा सकती है। जो वकील अदालत में प्रैक्टिस करते हैं, कोर्ट उनमें से किसी को, किसी केस में एमिकस क्यूरी बना सकता है। इसके लिए राज्य सरकार से केस लड़ने की फीस मिलती है। इसके अलावा किसी मामले में कोर्ट की सहायता के लिए अदालत एमिकस क्यूरी नियुक्त करता है। ऐसे एमिकस क्यूरी अदालत को संबंधित मामले में कानूनी पहलुओं की जानकारी देते हैं।

from India News: इंडिया न्यूज़, India News in Hindi, भारत समाचार, Bharat Samachar, Bharat News in Hindi https://ift.tt/2NQV3LZ

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Skip to toolbar