ऑनलाइन खाना मंगाने अलग-अलग ऐप की जरूरत नहीं पड़ेगी, गूगल ने सुविधा सर्च, मैप और असिस्टेंस में दी



गैजेट डेस्क. ऑनलाइन ऑर्डर कर खाना मंगवाना इन दिनों काफी चलन में है। भारत में स्विगी, जोमैटो, उबर ईट्स, फूड पांडा जैसी कंपनियां इस बिजनेस में होड़ कर रही हैं। यूजर्स को इन कंपनियों के ऐप के जरिए खाना ऑर्डर करना होता है। लेकिन, दुनिया की सबसे बड़ी इंटरनेट कंपनियों में से एक गूगल अब ऐसी सुविधा देने जा रही है जिससे यूजर्स अलग-अलग ऐप डाउनलोड किए बिना पसंदीदा रेस्टोरेंट से खाना ऑर्डर कर सकेंगे।

गूगल अब अपने सर्च, मैप और असिस्टेंस सर्विस में भी खाना ऑर्डर करने की सुविधा देने जा रही है। यानी आप अगर गूगल सर्च का इस्तेमाल कर रहे हैं और कोई पसंदीदा खाना सर्च करते हैं तो गूगल आपको यह बताएगा कि इसे किस रेस्टोरेंट से ऑर्डर किया जा सकता है। इतना ही नहीं वहीं से आप तत्काल खाना ऑर्डर भी कर सकेंगे और गूगल पे के जरिए ऑर्डर का पेमेंट भी कर सकते हैं। इसी तरह गूगल मैप का इस्तेमाल करते वक्त अगर आप किसी इलाके में मौजूद रेस्टोरेंट से खाना ऑर्डर कर सकेंगे। इतना ही नहीं गूगल वॉइस कमांड (गूगल असिस्टेंस) के जरिए भी यह काम किया जा सकेगा।

अमेरिका में कई कंपनियों से करार

गूगल खुद फूड डिलीवरी बिजनेस में नहीं आ रही है। इसके लिए वह इस बिजनेस में मौजूद कंपनियों के साथ करार कर रही है। अमेरिका में उसने इसके लिए डोर डैश, पोस्टमेट्स, डिलीवरी डॉट कॉम, स्लाइस और चाउ नाऊ के साथ करार किया है। जल्द ही जप्लर और अन्य कंपनियों को भी प्लेटफॉर्म पर लाया जाएगा। कंपनी भारत सहित अन्य देशों में ऑनलाइन ऑर्डर लेकर फूड डिलीवरी का काम कर रही कंपनियों के साथ करार करने की योजना भी बना रही है। अगर आपने किसी रेस्त्रां से पहले खाना ऑर्डर किया है और वहीं से खाना फिर मंगाना चाहते हैं तो गूगल असिस्टेंस के जरिए कुछ ही सेकंड में मंगवा सकेंगे। इसके लिए फोन को हाथ में लेने की जरूरत भी नहीं पड़ेगी।

ऑनलाइन खाना मंगाने अलग-अलग ऐप की जरूरत नहीं पड़ेगी

5 साल में फूड डिलीवरी बिजनेस 11 लाख करोड़ रुपए का हो जाएगा

स्मार्टफोन पेनिट्रेशन और इंटरनेट का इस्तेमाल बढ़ने से दुनियाभर में फूड डिलीवरी बिजनेस में तेजी आई है। एक अनुमान के मुताबिक साल 2024 तक दुनिया में फूड डिलीवरी मार्केट 16400 हजार करोड़ डॉलर (करीब 11 लाख करोड़ रुपए) का हो जाएगा। भारत में यह मार्केट सालाना 16.2% की दर से आगे बढ़ी रहा है। 2013 तक भारत में यह 1.18 लाख करोड़ रुपए तक पहुंच जाएगा। इस मार्केट में हिस्सा हासिल करने के लिए तमाम बड़ी कंपनियां होड़ कर रही हैं। इंटरनेट दिग्गज गूगल ने यह सुविधा इसी मौके को ध्यान में रखकर शुरू की है।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


Google made it super easy to order food apps

from Dainik Bhaskar
http://bit.ly/2YUv1bJ

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Skip to toolbar